नज़र आयी

नज़र आयी

Hindi Poetry/Quotes/Status तुम ही तुम दिखती हो यहाँ से वहां तक। In Hindi चश्मों को चश्मों के झरोंखे से देखा तो भी तुम ही नज़र आयी हर चेहरा तुम्हारे जैसा दिखा हर चीज़ तुम जैसी नज़र आयी लगा की चश्में...

/ September 24, 2018
गोधुली सी शाम

गोधुली सी शाम

Hindi Poetry/Quotes/Status चुप है ये आकाश ये धरती भी चुप है बस इंतज़ार है … In Hindi गोधुली सी शाम की तनहा चमकती रौशनी रोपी तुमने हाँथ पे तनहा चमकती रौशनी कुछ शक्लें बनायीं थी ज़मीं पे रौशनी को रोप...

/ September 24, 2018
एक शाम भीनी सी

एक शाम भीनी सी

Hindi Poetry/Quotes/Status तुम्हारी आदतें हैं या कहूँ एक शाम भीनी सी । In Hindi ख़यालों में सोचते-सोचते बिन कहे मुस्कुरा देना ग़मों की भीड़ में हँस के हवा को भी भिगा देना तुम्हारी आदतें हैं या कहूँ एक शाम भीनी...

/ September 16, 2018
Chand saansein

चंद साँसें

Hindi Poetry/Quotes/Status साँस अटकी हुई थी सीने में, तुमने रस्ते बदल लिए थे अपने जीने के। हम अकेले ही जिये जायेंगे न कहानी न परवाज़ कोई। In Hindi चंद साँसों की लड़ियाँ अटकी पड़ी थीं अकेले तो हम बस कदम...

/ September 13, 2018

वो जो कहानियाँ बुनता हूँ ना

Hindi Poetry/Quotes/Status तुमको लेकर कितने किस्से बुन रखे हैं मैंने आने वाले कल के लिये। इक उजली तस्वीर का हम दोनों हिस्सा हैं। In Hindi वो जो कहानियाँ बुनता हूँ ना तुम्हारी और मेरी तुम्हारे होठों से चुन के लफ़्ज़ों...

/ September 11, 2018
sham behki thi thodi

शाम बहकी थी

Hindi Poetry/Quotes/Status अभी भी इंतज़ार बाकी है मेरी आँखों में । In Hindi शाम बहकी थी थोड़ी और गुल खिले भी थे पसरती आँख की ग़र्मी में कुछ गिले भी थे तुम आये थे शहर में हवा महकी थी थोड़ी...

/ September 7, 2018