दरख़्त चुपचाप बैठे हैं

कितने किस्से समेटे बैठे हैं ये पेड़, डर में घुटते क्यों रहते हैं ये पेड़। In Hindi माथे पे नमकीन बरसात और गला सूखा पड़ा

Read more

दुआ ये खुदा तक जायेगी

छोटे हाथों से बनता है वो कहानी अपनी। रोज़ देखता है वो आसमानों में, जाने कब उसकी दुआ ख़ुदा तक जाएगी। In Hindi सर्द हवा

Read more

लैंप-पोस्ट

A Hindi short story of a lamp-post starts from a small city and ends with a question. ये मेरी कहानी है, एक लैंप–पोस्ट की कहानी।

Read more

धागे का एक सिरा

हम एक ही तो हैं धागे के छोर जैसे, बस थोड़ा दूर धागे जैसे जिसपे हमारी सारी कहानी है। In Hindi धागे का एक सिरा

Read more

बारिश

एक अनजाना सुकून है तुम्हारी बातों में, बिलकुल बारिश जैसा। तभी तो जो मेरे पास बारिश तुम्हारे लफ़्ज़ों से आती है In Hindi तुमको घंटो

Read more

तेरा हाँथ थामे

ख़ौफ़ हो गया है अब कभी यहीं इसी गुलशन में तुम्हारा हाँथ हांथों में लिए घूमा करता था। In Hindi तेरा हाँथ थामे इसी मंजरे-रक़्स

Read more

दिल की ख़्वाहिशें

चाहे कितना भी दूर हूँ मैं तुमसे पर प्यार तो तुम्हारे पास ही है। In Hindi सुबह से शाम तक यूँ घूमती है खुशबू तेरी

Read more

पतंग की डोर

पतंग की डोर से जुड़ा हूँ मैं तुमसे, कितना मुश्किल है दूर जाना। In Hindi वो पतंग की डोर जो मेरी आँखों से तुम्हारे जहन

Read more

ख़त आज भी साँस लेते हैं

पता है तुमको सिर्फ़ तुम ही नहीं तुम्हारे खत भी साँस लेते हैं। In Hindi पुरानी कहानियों के सारे पत्ते बुन कर के उस छोटे

Read more

सफ़र मेरी डायरी तक

तुम्हारे सारे आँसूं मैं डायरी के पन्नों पे समेत रखे हैं। In Hindi सीली हुई कहानियाँ सीले-सीले से पन्नो पर सफ़र मेरी डायरी तक का

Read more

बड़ी दूर निकल आये

माँ तुम फिर से पुकारो न मुझे, बहुत डर लगता है जीने में अब भी। In Hindi पुराने पीपल पे खेलते चढ़ जाते थे हम

Read more

वहीं पे खड़ा हूँ

इंतज़ार अब भी बाकी है, निगाहें अब भी तुमको तकती हैं। In Hindi जहाँ नीम के पेड़ में चाँद अटका पड़ा था पास वाले बाग़

Read more

वक़्त फुरसत है

तुमको कैसे बताऊँ कि तुम क्या हो मेरे लिए। In Hindi वक़्त से पिघले हुए लम्हें की तरह तुम मेरी रूह में भटकती हो वक़्त

Read more

भूली भटकी सी एक कहानी

तुम देश के पहरेदार बनकर हमको सुकून देते हो, और तुम्हारी वो छोटी कहानियाँ जो ज़मा-पूंजी है तुम्हारी हमको तुमपे नाज़ बहुत होता है। In

Read more