जाने क्यों

Hindi Poetry/Quotes/Status तुम्हारे एहसास से ही तो जीता हूँ मैं। नयी कहानियां सपनो में बनता हूँ मैं। In Hindi जाने क्यों मेरी आँखें तुझसे लिपट

Read more

तुम साथ हो

Hindi Poetry/Quotes/Status तुम्हारा साथ और एहसास बस पास होना ज़रूरी है। In Hindi तुम साथ हो तो बुन दूँ आसमां को मैं, कुछ हरे लाल

Read more

चलो गुल खिलाते हैं

Hindi Poetry/Quotes/Status आज़ादी बड़ी मुश्किल से मिला नायब हीरा है। कभी हमको लड़ाकर कोई छीन ले गया था। अब ये हमपे है कि इतनी मुश्किल

Read more

तलाश (Talash)

Hindi Poetry/Quotes/Status दूरियों में बंधा इंतज़ार बुनता हूँ, रोज़ मैं कुछ नए क़िरदार चुनता हूँ। In Hindi तलाश अभी बाकी है अधूरी कहानी की, फ़िर

Read more

दोस्ती (Dosti)

Hindi Poetry/Quotes/Status तुझ जैसा दोस्त ढूंढें से भी मिलता नहीं। तू ख़ुदा तो नहीं पर उसके जैसा ही है। In Hindi मैं दिल में सोचता

Read more

रोज थोड़ा सा (Roz thoda sa)

Hindi Poetry/Quotes/Status रोज थोड़ा सा कितना जानती हो तुम मुझको, शायद मैं भी नहीं जानता। In Hindi क़िताबों की तरह पढ़ती रही तुम रोज़ थोड़ा

Read more

एक प्याली धूप (Ek pyali dhoop)

Hindi Poem माँ, शब्द नहीं वाक्य है खुद में। क्या कुछ नहीं करती, खुद खुदा के जैसी और बच्चों में ढूंढती है ख़ुदा। माँ, शब्द

Read more

दरख़्त चुपचाप बैठे हैं

कितने किस्से समेटे बैठे हैं ये पेड़, डर में घुटते क्यों रहते हैं ये पेड़। In Hindi माथे पे नमकीन बरसात और गला सूखा पड़ा

Read more

दुआ ये खुदा तक जायेगी

छोटे हाथों से बनता है वो कहानी अपनी। रोज़ देखता है वो आसमानों में, जाने कब उसकी दुआ ख़ुदा तक जाएगी। In Hindi सर्द हवा

Read more

लैंप-पोस्ट

A Hindi short story of a lamp-post starts from a small city and ends with a question. ये मेरी कहानी है, एक लैंप–पोस्ट की कहानी।

Read more

धागे का एक सिरा

हम एक ही तो हैं धागे के छोर जैसे, बस थोड़ा दूर धागे जैसे जिसपे हमारी सारी कहानी है। In Hindi धागे का एक सिरा

Read more

बारिश

एक अनजाना सुकून है तुम्हारी बातों में, बिलकुल बारिश जैसा। तभी तो जो मेरे पास बारिश तुम्हारे लफ़्ज़ों से आती है In Hindi तुमको घंटो

Read more