Hindi Poetry/Quotes/Status

दोस्त बनाने की बस वजह चाहिए आपको फिर कोई दुश्मन नज़र नहीं आएगा। होंगे तो सिर्फ दोस्त।

In Hindi

छोटी सी कागज़ की नाव हिचकोलों में डोलती आगे बढ़ती थी
प्रेम अब उन हिचकोलों पे ज़्यादा था जिनपे वो आगे चलती थी
कितनी बार मेरी नाव की उन हिचकोलों से नहीं बनती थी
फ़िर भी दुश्मनी में दोस्ती का सबब ढूंढ लेती थीं

In English

Choti si kagaz ki naav hichkolon mein dolti aage badhti thi
Prem ab un hichkolon pe jyada tha jinpe wo aage chalti thi
Kitni baar meri naav ki un hichkolon se nahin banti thi
Phir bhi dushmani mein dosti ka sabab dhoondh letin thi

Posted by Tejas

Leave a Reply