छोटे हाथों से बनता है वो कहानी अपनी। रोज़ देखता है वो आसमानों में, जाने कब उसकी दुआ ख़ुदा तक जाएगी।

In Hindi

सर्द हवा में सुलगता जिस्म
नंगे पैर सड़कों पे दौड़ती साँसे
छोटे हाथों को थपकी का इंतज़ार
दौड़ती काँपती छोटी सी धड़कने उसकी
फ़िर दौड़ती निकली है दुआ आहों से
आसमानो को उम्मीद में तकती आँखें
शायद आज दुआ ये खुदा तक जायेगी

In English

Sard hawa mein sulagta jism
nange par sadkon pe daudti saansein
chote hanthon ko thapki ka intzar
daudti kanpti choti si dhadkane uski
phir daudti nikli hai dua aahon se
aasmano ko umeed mein takti aankhein
shayad aaj dua ye khuda tak jayegi

Posted by Tejas

Leave a Reply